Sunday, July 14bnmusamvad@gmail.com, 9934629245

Aajad पुस्तकालय खोलना सबसे बड़ा पुण्य : पूर्व मंत्री* 

*पुस्तकालय खोलना सबसे बड़ा पुण्य : पूर्व मंत्री*

*आजाद पुस्तकालय पढ़ने लिखने वालों के लिए वरदान साबित होगा* …..विधायक

गुरुवार की देर शाम शिव राजेश्वरी युवा सृजन क्लब कोसी प्रमंडल द्वारा शिक्षा,साहित्य सृजन को बढ़ावा के पहल को लेकर क्लब के सदस्य स्मृति शेष युवा प्रतिभा अजीत पाल सिंह आजाद को समर्पित *आजाद पुस्तकालय* का शिलान्यास बिहार सरकार के पूर्व मंत्री अशोक सिंह,पूर्व प्रति कुलपति प्रो के के मंडल,सिंहेश्वर विधायक चंद्रहास चौपाल,पूर्व विधायक परमेश्वरी निराला,पूर्व एमएलसी विजय कुमार वर्मा,पूर्व कुलसचिव प्रो कपिलदेव यादव,परीक्षा नियंत्रक रहे प्रो सच्चिदानंद,पूर्व कुलसचिव प्रो शचींद्र आदि ने किया ।आजाद पुस्तकालय के शिलान्यास करते हुए पूर्व मंत्री अशोक कुमार सिंह ने कहा कि पुस्तकालय ज्ञान का व्यवस्थित केंद्र बिंदु होता है जहा अलग अलग बिंदुओं पर अध्यन की संग्रहित सामग्री उपलब्ध कराई जाती है।युवा सृजन क्लब द्वारा आजाद पुस्तकालय की कल्पना आदरणीय पुण्य कार्य है।विधायक चंद्रहास चौपाल और पूर्व प्रति कुलपति प्रो के के मंडल ने कहा कि राठौर द्वारा पुस्तकालय खोलने की सोच पढ़ने लिखने वालों को विपुल मात्रा में अध्यन सामग्री उपलब्ध कराएगी और विशेष कर स्थानीय स्तर पर सर्वाधिक लाभ की संभावना रहेगी।पूर्व विधायक परमेश्वरी निराला, पूर्व एमएलसी विजय कुमार वर्मा ने कहा कि यह सराहनीय कदम है इससे स्थानीय व बाहरी छात्रों और पाठकों को लाभ मिलेगा।पूर्व कुलसचिव प्रो शचींद्र,प्रो कपिएलदेव यादव ,पूर्व परीक्षा नियंत्रक प्रो सच्चिदानंद यादव ने कहा कि दुनिया में शिक्षा सभी समस्याओं का निदान देती है और पुस्तकालय शिक्षा के हर बिंदुओं का संगम होता है यह आजाद पुस्तकालय की कल्पना अध्यन के साथ साथ शोध के क्षेत्र मे भी उपयोगी साबित होगा इस पर भी जरूर ध्यान दिया जाए।

*आजाद पुस्तकालय भैया के प्रति सम्मान और उन्हें हर दौर में जिंदा रखने का प्रयास*

आजाद पुस्तकालय के संस्थापक शिव राजेश्वरी युवा सृजन क्लब के महासचिव हर्ष वर्धन सिंह राठौर ने कहा कि आजाद पुस्तकालय युवा प्रतिभा बड़े भाई स्मृति शेष अजीत पाल सिंह आजाद की यादों को समर्पित सम्मान और हर दौर में उन्हें जीवंत रखने का प्रयास है। पिछले साल लखनऊ में एक अनियंत्रिक गाड़ी के चपेट में आने से सड़क हादसे में मौत हो गई थी।इस पुस्तकालय के माध्यम से शिक्षा के प्रचार प्रसार को जहां गति मिलेगी वहीं अध्यन की अधिक से अधिक सामग्री का अद्भुत संग्रह भी संभव होगा जो अमूल्य पूंजी साबित होगी।आजाद पुस्तकालय के संरक्षक तेज प्रताप सिंह ने अतिथियों का स्वागत और आभार जताते कहा कि आने वाले समय मे यह पुस्तकालय अपनी उपयोगिता को सिद्ध करने में कारगर साबित हो इसको लेकर हर संभव कोशिश की जाएगी।मौके पर प्रो निखिलेश सिंह,प्रो आलोक कुमार,सिद्धेश्वर काश्यप,प्रो शशि भूषण सिंह,समाजसेवी चंद्रशेखर,विनिता भारती सहित बड़ी संख्या में लोगों की उपस्थिति रही।