Sunday, July 14bnmusamvad@gmail.com, 9934629245

BHARAT

BHARAT

चंद्रशेखर : जो प्रधानमंत्री होने के बावजूद खेतों में चले जाते थे

चंद्रशेखर : जो प्रधानमंत्री होने के बावजूद खेतों में चले जाते थे रेहान फ़ज़ल बीबीसी संवाददाता एक दिसंबर, 1989 का दिन. संसद के सेंट्रल हॉल के मंच पर बैठे मधु दंडवते जनता दल संसदीय दल के नेता का चुनाव करवा रहे थे. वहाँ मौजूद लोगों को पहला झटका तब लगा जब ख़ुद प्रधानमंत्री पद के दावेदार विश्वनाथ प्रताप सिंह ने देवी लाल के नाम का प्रस्ताव किया. अपनी ख़ुशी छुपा न पा रहे चंद्रशेखर ने तुरंत इसका समर्थन किया. दंडवते ने देवी लाल को जनता दल संसदीय दल का नेता घोषित कर दिया. पूरा सेंट्रल हॉल भौचक्का कर देने वाले सन्नाटे में डूब गया. बाहर कोहराम मच गया. सारी समाचार एंजेंसियों ने दुनिया के हर कोने में समाचार फ़्लैश किया कि देवी लाल दुनिया के सबसे बड़े प्रजातंत्र के अगले प्रधानमंत्री होंगे. कैसे गिराई गई वीपी सिंह की सरकार? जन्मजात बाग़ी थे चंद्रशेखर लेकिन ठीक चार मिनट बाद, समाचार एजेंसि...
डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जयंती 
BHARAT

डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जयंती 

डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जयंती -------------- 6 जुलाई, 2024 को डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय, रांची (झारखंड) में एक समारोह का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता कुलपति प्रो. तपन कुमार शांडिल्य ने की।
Revised schedule for conduct of NEET-PG 2024.
BHARAT

Revised schedule for conduct of NEET-PG 2024.

Subject : Revised schedule for conduct of NEET-PG 2024 1. In continuation of NBEMS notice dated 22.06.2024, the conduct of NEET-PG 2024 examination has been rescheduled. 2. The NEET-PG 2024 shall now be conducted on 11th August 2024 in two shifts.
भारतीय टीम के शानदार प्रदर्शन ने ICC #T20WorldCup जीत लिया है!
BHARAT

भारतीय टीम के शानदार प्रदर्शन ने ICC #T20WorldCup जीत लिया है!

जीत हमारी है! 🇮🇳🏆 भारतीय टीम के शानदार प्रदर्शन ने ICC #T20WorldCup जीत लिया है! हर खिलाड़ी ने शानदार प्रदर्शन किया, देश को गौरवान्वित किया। इस अविश्वसनीय यात्रा और हमें सपने दिखाने के लिए धन्यवाद। #INDvSA #T20WorldCupFinal
‘हमारा समय और कबीर एवं नागार्जुन की विरासत’ विषयक संगोष्ठी 30 जून, 2024 को
BHARAT

‘हमारा समय और कबीर एवं नागार्जुन की विरासत’ विषयक संगोष्ठी 30 जून, 2024 को

कबीर-नागार्जुन जयंती समारोह सप्ताह संगोष्ठी का विषय : हमारा समय और कबीर एवं नागार्जुन की विरासत आयोजक- जन संस्कृति मंच (जसम), मधेपुरा दिनांक - 30 जून 2024 समय - 12: 00 बजे स्थान- श्री कृष्ण मंदिर गौशाला परिसर, मधेपुरा
यूजीसी चेयरमैन प्रोफेसर एम जगदीशकुमार के साथ विभिन्न विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधियों की गुवाहाटी में वार्ता। 
BHARAT

यूजीसी चेयरमैन प्रोफेसर एम जगदीशकुमार के साथ विभिन्न विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधियों की गुवाहाटी में वार्ता। 

यूजीसी चेयरमैन प्रोफेसर एम जगदीशकुमार के साथ विभिन्न विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधियों की गुवाहाटी में वार्ता। @"Implimentation of NEP 2020" 28.06.24
BHARAT

साहेब मेरे पास दिल्ली जाने के लिए पैसे नहीं है…

साहेब मेरे पास दिल्ली जाने के लिए पैसे नहीं है कृपया पुरस्कार डाक से भेज दीजिये'| ''यह शब्द है पद्यमश्री पुरस्कार विजेताह लधर नाग के | हलधर नाग के पास 3 जोड़ी कपड़े एक टूटी हुई रबर की चपल एक रिमलेश चश्मा और 732 रूपये की जमा राशि ,उन्हें पधमश्री से सम्मानित किया गया | हलधर नाग का जन्म 31 मार्च 19 50 में उड़ीसा के बाड़ गर जिले में हुआ था वे बहुत ही गरीब परिवार से थे तीसरी कक्षा में जब वे पढ़ रहे थे तो उनके पिता जी का देहांत हो गया ,पढ़ाई छोड़कर हलधर नाग होटल में बर्तन धोने का काम करने लगे दो साल के बाद एक सज्जन व्यक्ति उन्हें स्कूल में खाना बनाने का काम दिए 16 साल तक इस काम को करने के बाद उन्होंने एक बैंकर से मिलकर 1000 रूपये बैंक से लोन लिए और स्कूल के पास स्टेनरी का दुकान खोल दिए उसी से उनका गुजरा चलता रहा इस दवरान वे कुछ न कुछ लिखते रहते थे ,उन्होंने अपने लिखने का शौक को मरने नहीं दिया ये बात...