Home Blog Page 2

BNMU। स्थापना दिवस पर वार्षिक कैलेंडर जारी

0

आज विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस के अवसर पर माननीय कुलपति प्रोफेसर डॉ. राम किशोर प्रसाद रमण ने वार्षिक कैलेंडर जारी किया है। इसकी खास बात यह है कि इसमें विशेषरूप से विश्वविद्यालय का स्थापना दिवस (10 जनवरी) और भूपेंद्र नारायण मंडल जयंती (01 फरवरी) अंकित है। बहुत-बहुत धन्यवाद।

BNMU। अधिषद् के अधिवेशन को लेकर अहम बैठक

0

अधिषद् की बैठक (12 जनवरी) के निमित्त गठित स्वागत एवं प्रेक्षागृह व्यवस्था समिति और प्रेस समिति की संयुक्त बैठक रविवार को संयोजक डॉ. एम. आई. रहमान की अध्यक्षता में केंद्रीय पुस्तकालय सभागार में संपन्न हुई। इसमें विश्वविद्यालय के इस कार्यक्रम को यादगार बनाने हेतु सभी आवश्यक कदम उठाने का निर्णय लिया गया। आयोजन स्थल (प्रेक्षागृह मंच) पर भूपेंद्र नारायण मंडल का चित्र लगाया जाएगा।

कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु आयोजन स्थल को सेनेटाइज कराएगी और सभी सदस्यों को मास्क, गलब्स आदि उपलब्ध कराएगी। जगह-जगह फलैक्स लगाया जाएगा और तोरणद्वार बनाए जाएँगे। सभी सदस्यों को दिवाल कैलेंडर एवं टेबल कैलेंडर उपलब्ध कराया जाएगा।

बैठक में महाविद्यालय निरीक्षक विज्ञान डाॅ. उदयकृष्ण, उपकुलसचिव परीक्षा डॉ. शशिभूषण, एनएसएस समन्वयक डाॅ. अभय कुमार, उपकुलसचिव अकादमिक डॉ. सुधांशु शेखर, विधि शाखा के कार्यालय प्रभारी डॉ. राजेश्वर राय, केंद्रीय पुस्तकालय के पृथ्वीराज यदुवंशी, सी एस पांडेय आदि उपस्थित थे। आमंत्रित सदस्य के रूप में महाविद्यालय निरीक्षक कला एवं वाणिज्य डॉ. ललन प्रसाद अद्री ने भी इसमें भाग लिया।

BNMU। 29 वें स्थापना दिवस पर कार्यक्रम

0

विश्वविद्यालय के 29 वें स्थापना दिवस पर कुलपति प्रोफेसर डॉ. आर. के. पी. रमण ने सभी पदाधिकारियों, शिक्षकों, कर्मचारियों, विद्यार्थियों एवं अभिभावकों को बधाई एवं शुभकामनाएँ दी हैं। इस अवसर पर कुलपति ने विश्वविद्यालय परिसर स्थित भूपेन्द्र नारायण मंडल की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की और विश्वविद्यालय का वार्षिक कैलेंडर जारी किया गया।कुलपति ने कहा कि भूपेंद्र बाबू समाजवाद के जीती-जागती मशाल थे और उनके नाम पर विश्वविद्यालय की स्थापना इस क्षेत्र के लिए गौरव की बात है। इस विश्वविद्यालय के साथ भूपेंद्र बाबू का नाम जुड़ा है, इससे इसकी महत्ता बढ़ जाती है।

उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय स्थापना दिवस (10 जनवरी) और भूपेंद्र नारायण मंडल जयंती (01 फरवरी) को विश्वविद्यालय कैलेंडर में शामिल किया गया है। आगे एक फरवरी को एक भव्य समारोह आयोजित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि बीएनएमयू ने कोसी एवं सीमांचल में शिक्षा के प्रचार-प्रसार में महती भूमिका निभाई है। वे इस विश्वविद्यालय के प्रति प्रतिबद्ध हैं। इसके विकास के लिए हरसंभव प्रयास किया जाएगा।

इस अवसर पर कुलानुशासक डाॅ. विश्वनाथ विवेका, कुलसचिव डाॅ.कपिलदेव प्रसाद, अकादमिक निदेशक प्रोफेसर डॉ. एम. आई. रहमान, महाविद्यालय निरीक्षक विज्ञान डाॅ. उदयकृष्ण, जनसंपर्क पदाधिकारी डाॅ. सुधांशु शेखर, कुलपति के निजी सहायक शंभू नारायण यादव, विधि शाखा के कार्यालय प्रभारी डाॅ. राजेश्वर राय, पृथ्वीराज यदुवंशी आदि उपस्थित थे।

BNMU। नवनियुक्त असिस्टेंट प्रोफ़ेसरों के हित में कई निर्णय

0

09 जनवरी, 2021 को कुलपति प्रोफेसर डॉ. राम किशोर प्रसाद रमण की अध्यक्षता में संपन्न हुई अभिषद् की बैठक में नवनियुक्त असिस्टेंट प्रोफ़ेसरों के हित में कई निर्णय लिए गए। 51 नवनियुक्त असिस्टेंट प्रोफ़ेसरों की सेवासंपुष्टि हेतु निर्गत पत्र में लगा अनावश्यक नोट हटाया जाएगा। वर्ष 2003 से अद्यतन जिन शिक्षकों की सेवासंपुष्टि हो गई है, उनकी मौलिक नियुक्ति की तिथि से संबंधित अधिसूचना जारी की जाएगी। जो भी नवनियुक्त असिस्टेंट प्रोफ़ेसरों अपनी प्रक्ष्यिमान अवधि पूरी कर चुके हैं, उन सबों की सेवा संपुष्टि की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इस बावत पूर्व में असिस्टेंट प्रोफ़ेसर एवं जनसंपर्क पदाधिकारी डाॅ. सुधांशु शेखर ने कुलपति और विभिन्न सिंडिकेट सदस्यों को आवेदन दिया था। इस आवेदन के आलोक में टी. पी. कााॅलेज, मधेपुरा में राजनीति विज्ञान विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. जवाहर पासवान ने सिंडिकेट में यह मामला उठाया था।

सभी नवनियुक्त असिस्टेंट प्रोफ़ेसरों ने इसके लिए कुलपति प्रोफेसर डॉ. राम किशोर प्रसाद रमण, प्रति कुलपति प्रोफेसर डॉ. आभा सिंह एवं कुलसचिव डॉ. कपिलदेव प्रसाद और अभिषद् सदस्य डॉ. रामनरेश सिंह, डॉ. जवाहर पासवान एवं गौतम कुमार के प्रति विशेष रूप से आभार व्यक्त किया है।

BNMU। उर्दू साहित्य के प्रख्यात साहित्यकार एवं विद्वान शमशुर्रह्मान फारुकी के देहांत पर शोकसभा का आयोजन

0

बी. एन. मंडल विश्विद्यालय, उतरी परिसर, मधेपुरा में स्नातकोत्तर उर्दू विभाग में उर्दू साहित्य के प्रख्यात साहित्यकार एवं विद्वान् शमशुर्रह्मान फारुकी के देहांत पर एक शोक सभा का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि शमशुर्रहमान फारुकी एक भारतीय उर्दू भाषा के कवि, लेखक, आलोचक और सिद्धांतकार थे। उन्हें उर्दू साहित्य के लिए आधुनिकता की शुरुआत करने के लिए जाना जाता है। उनके कुछ उल्लेखनीय कार्यों में शेर-ए-शोर अंगरेज़ (1996), कै चांद द सर-ए असमान (2006), द मिरर ऑफ ब्यूटी (2013) और द सन द रोज़ फ्रॉम द अर्थ (2014) शामिल हैं। वे उर्दू साहित्यिक पत्रिका शबखून के संपादक और प्रकाशक भी थे ।फ़ारूक़ी को 2009 में भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री मिला। वे 1996 में अपने काम शेर-ए-शोर अंगरेज़ के लिए सरस्वती सम्मान और 1996 में तन्कीदी के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार भी प्राप्त कर चुके थे। इनके देहांत से उर्दू साहित्य का बड़ा नुकसान हुआ है।

शोक सभा में विभागाध्यक्ष डाॅ. आबिद हुसैन उस्मानी, पूर्व विभागाध्यक्ष डाॅ. मुमताज़ आलम, डाॅ. फसिहुद्दिन अहमद, डाॅ. मो सलमान, डाॅ. नेजामउद्दीन अहमद, शोधार्थी शाहनवाज़ आलम, शबनम परवीन, मोहम्मद सऊद आलम, शाहीन कौसर, मोहम्मद सद्दाम हुसैन, मोहम्मद गुलनावज रब्बानी, मोहम्मद रहमतुल्लाह, मलिका निसार, रौशन परवीन, ग़ुलाम अख्तर रज़ा, मोहम्मद शब्बीर रज़ा, मोहम्मद अनायतुल्लह, मोहम्मद फारुक, शमीमा खातून, अदनान अनवर, वालीउल्लाह, मोहम्मद ज़फरुल्लाह अंसारी, मोहम्मद वासिमुद्दीन, मोहम्मद हसन रज़ा, मोहम्मद मोसाविर आलम आदि मौजूद थे।

BNMU। एनसीसी कैडेट्स ने चलाया स्वच्छता अभियान

0

स्वच्छता ही देवत्व है। हम सबों को स्वच्छता पर काफी ध्यान देना चाहिए। हमारा तन-मन स्वच्छ रहेगा, तो हमारा जीवन भी स्वच्छ बनेगा। यह बात कुलपति प्रोफेसर डॉ. आर. के. पी. रमण ने कहीं। वे शनिवार को स्वच्छता अभियान के क्रम में ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय, मधेपुरा के एनसीसी कैडेट्स को संबोधित कर रहे थे।

कुलपति ने कहा कि स्वच्छता और समाज एवं राष्ट्र की सेवा के क्षेत्र में एनसीसी का महत्वपूर्ण योगदान है। एनसीसी कैडेट्स हमारे आन, बान एवं शान हैं।प्रति कुलपति प्रोफेसर डॉ. आभा सिंह ने कहा कि स्वच्छता हमारी प्राथमिक जरूरत है। हमें मात्र एक दिन नहीं, बल्कि नियमित रूप से स्वच्छता अभियान चलाना चाहिए। स्वच्छता को अपने जीवन का अंग बनाना चाहिए।

एनसीसी ऑफिसर लेफ्टीनेंट गुड्डू कुमार ने बताया कि शनिवार को ठाकुर महाविद्यालय परिसर में कृति नारायण मंडल तथा ठाकुर प्रसाद की प्रतिमा को साफ-सफाई की गई। इसके अलावा विश्वविद्यालय परिसर में स्थापित महात्मा गाँधी, भूपेन्द्र नारायण मंडल एवं महावीर यादव की प्रतिमाओं की सफाई की गई।
इसमें लगभग 70 कैडेट्स ने भाग लिया। कुलपति, प्रतिकुलपति एवं अन्य ने इस कार्य की सराहना की।इस अवसर पर डीएसडब्लू डाॅ. अशोक कुमार यादव, कुलसचिव डाॅ. कपिलदेव प्रसाद, जनसंपर्क पदाधिकारी डाॅ. सुधांशु शेखर, कुलपति के निजी सहायक शंभू नारायण यादव, डाॅ. विनोद कुमार यादव, सीनियर कैडेट्स राकेश, नीतीश, धीरज, हिमांशु , रमन, दीपांशु आदि उपस्थित थे।

BNMU। अभिषद् की बैठक संपन्न

0

अभिषद् की बैठक संपन्न

भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा की अभिषद् (सिंडिकेट) की बैठक 9 जनवरी, 2021 शनिवार को अपराह्न 12 : 30 बजे विश्वविद्यालय केंद्रीय पुस्तकालय सभागार में कुलपति प्रोफेसर डॉ. आर. के. पी. रमण की अध्यक्षता में संपन्न हुई।

कुलपति ने बताया कि आगामी 12 जनवरी को अधिषद् की बैठक सुनिश्चित है। इसके लिए राज्यपाल सह कुलाधिपति की स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है। बैठक में अधिषद् की कार्यसूचियों पर भी विचार किया गया और आवश्यक निर्णय लिए गए।अधिषद् की विभिन्न कार्यसूचियों को मंजूरी दी गई। अधिषद् में कुलपति प्रोफेसर डॉ. आर. के. पी. रमण अध्यक्षीय अभिभाषण एवं प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे। हिंदी विभागाध्यक्ष डाॅ. उषा सिन्हा द्वारा गत अधिषद् की बैठक (22. 02. 2020) की कार्रवाई की सम्पुष्टि प्रस्ताव रखा जाएगा। डीएसडब्लू डाॅ. अशोक कुमार यादव गत अधिषद् की बैठक में लिए गए निर्णय का अनुपालन प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे। बीएनएमभी काॅलेज, मधेपुरा के प्रधानाचार्य डाॅ. के. एस. ओझा वार्षिक प्रतिवेदन (2019-2020) के अनुमोदन का प्रस्ताव रखेंगे। भौतिकी विभागाध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-2020 के वास्तविक आय-व्यय का लेखा प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जाएगा। एमएलटी काॅलेज, सहरसा के प्रधानाचार्य डाॅ. डी. एन. साह द्वारा विभिन्न प्राधिकारों/निकायों/ समितियों के कार्यवृत का अनुमोदन प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा। मैथिली विभाग के पूर्व अध्यक्ष डाॅ. रामनरेश सिंह विभिन्न महाविद्यालयों के संबंधन, नवसंबंधन, संबंधन दीर्घीकरण एवं पदसृजन का प्रस्ताव प्रस्तुत करेंगे। कुलानुशासक डाॅ. विश्वनाथ विवेका द्वारा अधिषद् सदस्यों से प्राप्त प्रश्नों के उत्तर की प्रस्तुति होगी। अंत में लेफ्टिनेंट गौतम कुमार द्वारा शोक प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा।

इसके पूर्व कुलपति ने सभी सदस्यों का स्वागत किया। बैठक में गत बैठक की सम्पुष्टि, गत बैठक में लिए गए निर्णय का अनुपालन प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। इस पर विभिन्न सदस्यों ने गहन विचार-विमर्श किया। सदस्यों ने कहा कि सदन की चर्चा को ठीक तरह से कार्यवृत में अंकित किया जाना चाहिए। अनुपालन प्रतिवेदन पर चर्चा और अन्याय में विभिन्न सदस्यों ने कई महत्वपूर्ण मुद्दे उठाए। सर्वसम्मति से विभिन्न महाविद्यालयों में स्नातकोत्तर की पढ़ाई शुरू करने को सैद्धांतिक सहमति प्रदान की गई। लेकिन स्नातकोत्तर की पढ़ाई के औचित्य एवं उपादेयता की जाँच गत सिंडिकेट की बैठक में लिए के आलोक में गठित समिति द्वारा की जाएगी। समिति की रिपोर्ट के आधार पर आवश्यक कदम उठाया जाएगा।

अन्याय में प्रति कुलपति ने प्रस्ताव दिया कि विश्वविद्यालय के वृक्षों से गिरने वाले पत्तों एवं अन्य कचरों से कम्पोस्ट बनाया जाए। इसे सर्वसम्मति से स्वीकृति प्रदान की गई।

अंत में राष्ट्रीय गान जन-गण-मन के सामूहिक गायन के साथ बैठक संपन्न हुई।बैठक में प्रति कुलपति डाॅ. आभा सिंह, विधायक गुंजेश्वर साह, डीएसडब्लू डाॅ. अशोक कुमार यादव, कुलानुशासक डाॅ. विश्वनाथ विवेका, कुलसचिव डाॅ. कपिलदेव प्रसाद, हिंदी विभागाध्यक्ष डाॅ. उषा सिन्हा, मैथिली विभाग के पूर्व अध्यक्ष डाॅ. रामनरेश सिंह, टी. पी. काॅलेज, मधेपुरा के डाॅ. जवाहर पासवान, लेफ्टिनेंट गौतम कुमार, भौतिकी विभागाध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार, बीएनएमभी काॅलेज, मधेपुरा के प्रधानाचार्य डाॅ. के. एस. ओझा, एमएलटी काॅलेज, सहरसा के प्रधानाचार्य डाॅ. डी. एन. साह उपस्थित थे।

BNMU। रविवार को भी खुला रहेगा विश्वविद्यालय

0

BNMU। छात्र संवाद की संक्षिप्त रिपोर्ट

0

छात्र संवाद की संक्षिप्त रिपोर्ट
============÷===

मधेपुरा ही मेरी जन्मभूमि एवं कर्मभूमि दोनों है। ऐसे में मेरी एकमात्र निष्ठा भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के प्रति ही है। मैं यहाँ का छात्र रहा हूँ, यहीं शिक्षक हूँ और यहीं विभिन्न रूपों में काम करता रहा हूँ। यह विश्वविद्यालय ही हमारे लिए मंदिर है। विश्वविद्यालय है, तो हम हैं और विश्वविद्यालय है, तभी हम सभी यहाँ हैं।यह बात कुलपति प्रोफेसर डॉ. राम किशोर ने कही। वे शुक्रवार को बैठक 8 जनवरी, 2021 (शुक्रवार) को केंद्रीय पुस्तकालय सभागार में विश्वविद्यालय छात्र संघ के पदाधिकारियों और विश्वविद्यालय क्षेत्रान्तर्गत सभी छात्र एवं युवा संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।उन्होंने कहा कि विद्यार्थी ही समाज एवं राष्ट्र के भविष्य हैं। यह विश्वविद्यालय विद्यार्थियों के लिए ही है। विद्यार्थियों की समस्याओं का समाधान उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। वे क्रमशः सभी समस्याओं को दूर करेंगे। इसमें देर हो सकती है, लेकिन अंधेर कदापि नहीं होगा।

कुलपति ने सभी पदाधिकारियों, शिक्षकों, कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों से अपील की कि सभी अपनी-अपनी जिम्मेदारियों को निभाएँ और अपने-अपने स्वधर्म का पालन करें। जो जहाँ हैं, वहाँ विश्वविद्यालय के बारे में सोचें और विश्वविद्यालय के हित में काम करें।

कुलपति ने कहा कि छात्र संगठन विश्वविद्यालय के सहयोगी एवं पूरक हैं। छात्र संगठनों की माँगों से समस्याओं को जानने का अवसर मिलता है।कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय परीक्षा विभाग को और अधिक सुदृढ़ किया जाएगा और सत्र-नियमितिकरण हेतु हरसंभव कदम उठाए जाएँगे। हमारी यह कोशिश है कि सभी परीक्षाएँ यथासमय आयोजित हों और समय पर त्रुटिरहित परीक्षाफल प्रकाशित किया जाए। विभिन्न स्नातकोत्तर विभागों में शिक्षकों एवं कर्मचारियों के पद-सृजन हेतु ठोस पहल किया जा रहा है। स्नातकोत्तर स्तर पर कुछ नवीन विषयों की पढ़ाई प्रारंभ करने और रोजगारपरक पाठ्यक्रमों के संचालन की दिशा में प्रभावी कदम उठाया जा रहा है।कुलपति ने बताया कि स्नातक एवं स्नातकोत्तर में विद्यार्थियों को नामांकन का अधिकाधिक अवसर देने हेतु सीट वृद्धि के लिए ठोस कदम उठाया जा रहा है।

कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय में सभी बुनियादी सुविधाएँ बहाल की जाएँगी, महिला छात्रावास शुरू किया जा रहा है। इसके लिए छात्रावास अधीक्षक की नियुक्ति की जा चुकी है। विश्वविद्यालय के साउथ कैम्पस में पुलिस चौकी बनाने हेतु प्रयास किया जा रहा है।

कुलपति ने कहा कि विद्यार्थियों की सभी माँगों पर सकारात्मक पहल की जाएगी। एक-एक कर सभी समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

बैठक में कुलानुशासक डाॅ. विश्वनाथ विवेका ने कहा कि हम सभी पदाधिकारी एवं छात्रनेता के रूप में नहीं, बल्कि शिक्षक एवं छात्र के रूप में बात करें। शिक्षक-छात्र का संबंध सबसे पवित्र संबंध है।

कुलसचिव डाॅ. कपिलदेव प्रसाद ने घोषणा की कि सुविधानुसार प्रत्येक माह छात्र-संवाद का आयोजन किया जाएगा।

जनसंपर्क पदाधिकारी डाॅ. सुधांशु शेखर ने कहा कि यहाँ के सभी छात्र प्रतिनिधि हमेशा विश्वविद्यालय के विकास के लिए तत्पर रहते हैं। यही कारण है कि हम जब भी बैठक बुलाते हैं, वे उसमें अपनी भागीदारी निभाते हैं।

बैठक में विश्वविद्यालय के विकास से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई और आवश्यक निर्णय लिया गया।

बैठक के अंत में अभियंता अवधेश कुमार राम के आकस्मिक निधन पर शोक व्यक्त किया गया और उनके सम्मान में एक मिनट का मौन रखा गया। बैठक में बैठक में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्, ऑल इंडिया स्टूडेंट यूनियन, भारतीय विद्यार्थी मोर्चा, छात्र रालोसपा, छात्र राजद, जन अधिकार छात्र परिषद्, मधेपुरा यूथ एसोसिएशन, एनएसयूआई, प्रांगण रंगमंच, स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया आदि संगठनों के प्रतिनिधि शामिल थे।

इस अवसर पर कुलपति के निजी सहायक शंभू नारायण यादव, राहुल यादव, हर्ष वर्द्धन सिंह राठौर, मनीष कुमार, सारंग तनय, शशि यादव, राजहंस राज, संजीव कुमार, रौशन कुमार बिट्टू, वसीउद्दीन उर्फ नन्हे, निशांत यादव, सौरभ कुमार, दिलीप कुमार दिल, ईशा अशलम, अभिषेक यादव, बिट्टू कुमार, अमोद आनंद, गरिमा उर्विशा, अमन कुमार रितेश, अभिषेक कुमार साह, ऋषिकेश, पिंटू यादव, राजू कुमार मन्नू, रबीन्द्र कुमार, नीरज कुमार, नवीन कुमार, किशोर कुमार, आर्यन सराफ, प्रिंस यादव, अक्षय सिद्धान्त, राजदीप, प्रवीण कुमार, माधव कुमार, मो अरमान अली, राजा, अभिषेक, सुनीत साना, विकास, मनु महराज, सतीश राज, हिमांशु राज, उपेंद्र कुमार भरत, विवेकानंद कुमार, मुकेश कुमार, अमरेश कुमार अमर, विराज कश्यप, अमित कन्हैया, नीरज, राहुल, लक्ष्मण, रंजीत राज आदि उपस्थित थे।

नोट :
1. आज विलंब हो जाने के कारण सभी मुद्दों को मीडिया में नहीं दे पा रहे हैं।
2. विभिन्न छात्र नेताओं द्वारा उठाए गए सभी मुद्दों को प्रोसिडिंग्स में दर्ज किया जाएगा और माननीय कुलपति महोदय के आदेशानुसार आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

BNMU। बैठक शुक्रवार को

0

बैठक शुक्रवार को

विश्वविद्यालय छात्र संघ के पदाधिकारियों और विश्वविद्यालय क्षेत्रान्तर्गत सभी छात्र एवं युवा संगठनों के प्रतिनिधियों की एक आवश्यक बैठक 8 जनवरी, 2021 शुक्रवार को अपराह्न एक बजे से केंद्रीय पुस्तकालय सभागार में कुलपति प्रोफेसर डॉ. आर. के. पी. रमण की अध्यक्षता में सुनिश्चित है। इसमें विश्वविद्यालय के विकास से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। जनसंपर्क पदाधिकारी डाॅ. सुधांशु शेखर ने बताया कि इस बावत सभी संबंधित व्यक्तियों को वाट्सप के माध्यम से सूचना दी गई है। इस बैठक में विश्वविद्यालय की ओर से माननीय कुलपति के अलावा अध्यक्ष, छात्र कल्याण, कुलानुशासक, कुलसचिव एवं जनसंपर्क पदाधिकारी भी उपस्थित रहेंगे।

22,134FansLike
0FollowersFollow
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest posts