Nalanda। 30 नवम्बर, 2020, कार्तिक पूर्णिमा को नव नालन्दा महाविहार, नालन्दा (समविश्वविद्यालय, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार) द्वारा प्रति वर्ष की भाँति सारिपुत्त परिनिर्वाण दिवस

0
51

30 नवम्बर, 2020, कार्तिक पूर्णिमा को नव नालन्दा महाविहार, नालन्दा (समविश्वविद्यालय, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार) द्वारा प्रति वर्ष की भाँति सारिपुत्त परिनिर्वाण दिवस पर एक समारोह गिरियक पहाड़, घोड़ा कटोरा, राजगीर, बिहार, भारत में किया गया।

इसकी अध्यक्षता कुलपति प्रोफेसर डॉ. वैद्यनाथ लाभ ने की। इस समारोह की प्रथम कड़ी के रूप में डॉ॰ श्रीकांत सिंह द्वारा सारिपुत्त के जीवन एवं बौद्ध धर्म के विकास में उनके योगदान पर विशेष व्याख्यान का आयोजन नव नालन्दा महाविहार के मुख्य परिसर में किया गया। इस अवसर पर महाविहार परिवार के सदस्यों द्वारा पर्यावरण की शुद्धि के लिए औषधीय एवं छायादार पौधों का रोपण गिरियक पहाड़, घोड़ा कटोरा, राजगीर में किया गया।
इस समारोह में प्रमुख रूप से मैडम कुलपति डॉ॰ नीहारिका लाभ, प्रो॰ रविंद्र नाथ श्रीवास्तव, डॉ॰ विश्वजीत कुमार, डॉ॰ विनोद कुमार चौधरी, डॉ॰ दीपंकर लामा, डॉ॰ धम्मा ज्योति, डॉ॰ रूबी कुमारी, डॉ॰ मुकेश वर्मा, डॉ॰ प्रदीप दास, डॉ. सुरेश कुमार, डॉ॰ सोनम लामो, डॉ॰ अनुराग शर्मा, डॉ॰ राजेश कुमार मिश्रा, डॉ॰ जितेंद्र कुमार, श्री भीष्म कुमार, डॉ॰ नरेंद्र दुत्त तिवारी, श्री सुदामा सिंह, डॉ॰ अशोक कुमार, श्री अशोक कुमार, श्री राजेश जायसवाल, श्री प्रवीर कुमार तथा महाविहार के सभी अध्यापकगण एवं कर्मचारीगण उपस्थित हुए।
समारोह का संचालन प्रो॰ राणा पुरुषोत्तम कुमार सिंह ने किया। धन्यवाद ज्ञापन महाविहार के कुलसचिव डॉ॰ सुनील प्रसाद सिन्हा ने की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here