BNMU। एनएसएस का सात दिवसीय विशेष शिविर 11 दिसंबर से। 6 दिसंबर तक करें आवेदन। विभिन्न विषयों पर होगी परिचर्चा। कुलपति करेंगे उद्घाटन।

0
213

एनएसएस का सात दिवसीय विशेष शिविर 11 दिसंबर से। 6 दिसंबर तक करें आवेदन। विभिन्न विषयों पर होगी परिचर्चा। कुलपति करेंगे उद्घाटन।

बी. एन. मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा की अंगीभूत इकाई ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय, राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई-i के स्वयंसेवक/स्वयंसेविकाओं का सात दिवसीय विशेष शिविर 11-17 दिसंबर, 2020 तक वार्ड नं. 3 में प्रस्तावित है। इसके तहत कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए निर्धारित एसओपी का पालन करते हुए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। प्रधानाचार्य डाॅ. के. पी. यादव ने बताया कि इसमें महाविद्यालय के स्नातक एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं के 50 चुने हुए स्वयंसेवक (छात्र एवं छात्राएँ) भाग लेंगे। इच्छुक छात्र एवं छात्राएँ 6 दिसंबर तक प्रधानाचार्य कार्यालय में कम्प्यूटर ऑपरेटर मणिष कुमार या आदेशपाल सुनील कुमार से नि:शुल्क आवेदन फार्म प्राप्त कर उन दोनों में से किसी के भी पास उसे जमा कर सकते हैं। सभी प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र भी दिया जाएगा।

राष्ट्रीय सेवा योजना के विश्वविद्यालय समन्वयक डाॅ. अभय कुमार ने बताया कि ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय के प्रधानाचार्य द्वारा शिविर के आयोजन हेतु प्राप्त प्रस्ताव पर को माननीय कुलपति का अनुमोदन प्राप्त हो गया है। उन्होंने बताया कि शिविर के उद्घाटनकर्ता के रूप में कुलपति प्रो. (डॉ.) आर. के. पी. रामण और मुख्य अतिथि के रूप में प्रति कुलपति प्रो. (डॉ.) आभा सिंह से अनुरोध किया जाएगा। इनके अलावा विभिन्न सत्रों में वक्ताओं के रूप में मार्गदर्शन हेतु प्रो. (डॉ.) उषा सिन्हा, अध्यक्ष, मानविकी संकाय, प्रो. (डॉ.) डॉ अशोक कुमार, महासचिव, बीएनमुटा, प्रो. (डॉ.) नरेश कुमार, महासचिव, बीएनमुस्टा, प्रो. (डॉ.) एम. आई. रहमान, निदेशक, अकादमिक एवं डॉ. जवाहर पासवान, सिंडिकेट सदस्य को आमंत्रित किया जाएगा।

जनसंपर्क पदाधिकारी डाॅ. सुधांशु शेखर ने बताया कि सात दिवसीय विशेष शिविर के दौरान प्रत्येक दिन सर्वेक्षण, जागरूकता अभियान एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा। इसके अलावा शुरूआती 6 दिनों तक अलग-अलग विषयों पर परिचर्चा का आयोजन होगा। इसके लिए क्रमशः कोरोना : कारण एवं निवारण, मानव और पर्यावरण, पोषण एवं स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन और सामाजिक दायित्व, कोसी की ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक विरासत तथा स्वास्थ्य और युवा वर्ग विषय निर्धारित किया गया है। इसमें देश के कई विद्वान ऑनलाइन जुड़कर विद्यार्थियों का मार्गदर्शन करेंगे। इनमें सुप्रसिद्ध गाँधीवादी विचारक, पूर्व सांसद एवं पूर्व कुलपति प्रो. (डॉ.) रामजी सिंह, आईसीपीआर, नई दिल्ली के अध्यक्ष प्रो. (डॉ.) रमेशचंद्र सिंहा, गांधी विचार विभाग, टीएमबीयू, भागलपुर के अध्यक्ष प्रो. (डॉ.) विजय कुमार, दर्शनशास्त्र विभाग, हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय विश्वविद्यालय, श्रीनगर-गढ़वाल की अध्यक्ष प्रो. (डॉ.) इंदु पाण्डेय खंडूरी, अध्यक्ष, दर्शन परिषद्, बिहार के पूर्व अध्यक्ष प्रो. (डॉ.) प्रभु नारायण मंडल, अध्यक्ष बी. एन. ओझा एवं महामंत्री डॉ. श्यामल किशोर, महामंत्री, कंपनी सेक्रेट्री, रांची (झारखंड) सीएस पूजा शुक्ला, योग विशेषज्ञ डॉ. कविता भट्ट शैलपुत्री आदि प्रमुख हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here