BNMU SAMVAD

BNMU विश्वविद्यालय मनोविज्ञान विभाग में छह दिवसीय कार्यशाला 20 मई, 2024 से

विश्वविद्यालय मनोविज्ञान विभाग में होगी छह दिवसीय कार्यशाला

———-

भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय शैक्षणिक परिसर स्थित विश्वविद्यालय मनोविज्ञान विभाग में छह दिवसीय कार्यशाला के आयोजन को लेकर शनिवार को बैठक हुई, जिसकी अध्यक्षता विश्वविद्यालय मनोविज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो एमआइ रहमान ने की.

विभागाध्यक्ष ने बताया कि छह – दिवसीय कार्यशाला के आयोजन करने की प्रशासनिक अनुमति विश्वविद्यालय द्वारा प्राप्त हो गयी है. कार्यशाला रिसर्च स्किल डेवलपमेंट शीर्षक से आयोजित की जायेगी. कार्यशाला का उद्देश्य शिक्षकों, शोधार्थियों व छात्राओं को आधुनिक शोध प्रणालियों से अवगत कराना एवं उन्हें सक्षम बनाना है. शोधार्थियों को शोध के सभी आयाम.

20 से 25 मई तक होगी कार्यशाला

कार्यशाला का आयोजन 20 से 25 मई तक होगा. कार्यशाला के संरक्षक बीएनएमयू कुलपति प्रो विमलेदु शेखर झा होंगे. प्रो. एमआइ रहमान को कार्यशाला का निदेशक, डॉ. आनंद कुमार सिंह संयोजक सचिव व डॉ. सिकंदर कुमार को कोषाध्यक्ष मनोनीत किया गया है. कार्यशाला के लिए 3 ऑर्गनाइजिंग कमेटी का भी गठन किया गया है, जिसमें विभाग के शोधार्थियों एवं छात्रों को सम्मिलित किया गया है. पंजीयन के लिए विश्वविद्यालय मनोविज्ञान विभाग के डॉ= सिकंदर कुमार से संपर्क करें.

विभागाध्यक्ष ने कहा कि बीएनएमयू अंतर्गत शोधार्थियों में शोध कौशल का विकास करना हम शिक्षकों की जिम्मेदारी है। हमारे छात्र शोध के क्षेत्र में आगे बढ़ें व समाज उपयोगी शोध के क्षेत्र में कार्य करें, यही हम सबों की मंशा है. उन्होंने कहा कि प्रायः यह देखने में आता है कि शोधार्थियों को सही मार्गदर्शन नहीं मिल पाने के कारण उन्हें अत्यधिक कठिनाइयों से जूझना पड़ जाता है. इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य यही होगा कि शोधार्थियों को शोध के सभी आयाम की जानकारी दी जाये और उन्हें प्रशिक्षित किया जाये.

विभिन्न विश्वविद्यालयों से आमंत्रित किये जायेंगे विशेषज्ञ

विभागाध्यक्ष ने कहा कि कार्यशाला द्वारा व्यज्ञानिक समस्या की रचना, शोध के लिए सिनॉप्सिस लेखन, शोध पत्र लेखन, व्यवस्थित रूप से शोध साहित्य का अवलोकन, पीएचडी थीसिस लेखन आदि पर शोधार्थियों को प्रशिक्षित किया जाएगा. उन्होंने बताया कि आयोजित होने वाली कार्यशाला में बिहार के विभिन्न विश्वविद्यालय जैसे ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय दरभंगा, बीआरए बिहार विश्वविद्यालय मुजफ्फरपुर, तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय भागलपुर, पटना विश्वविद्यालय, पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय एवं बिहार राज्य के बाहर के विश्वविद्यालयों से भी विषय विशेषज्ञ को आमंत्रित किया जायेगा.

एकेडमिक एडवाइजरी कमेटी का गठन

बैठक में एकेडमिक एडवाइजरी कमेटी का गठन किया गया, जिसमें सामाजिक विज्ञान संकाय के संकायाध्यक्ष प्रो अशोक कुमार, मानविकी संकाय के संकायाध्यक्ष प्रो राजीव मल्लिक, वाणिज्य संकाय के संकायाध्यक्ष डॉ अशोक कुमार, विज्ञान संकाय के संकायाध्यक्ष डॉ अरुण कुमार व अध्यक्ष छात्र कल्याण प्रो नवीन कुमार, बीएनएमयू आइक्यूएसी निदेशक प्रो नरेश कुमार को मनोनीत सदस्य के रूप में शामिल किया गया है.