BNMU SAMVAD

Bihar विधान पार्षद डॉ. संजीव कुमार सिंह ने की शिक्षकों से संबंधित समस्याओं और उसके समाधान को लेकर मुख्यमंत्री से की मुलाकात।

विधान पार्षद डॉ. संजीव कुमार सिंह ने की शिक्षकों से संबंधित समस्याओं और उसके समाधान को लेकर मुख्यमंत्री से की मुलाकात

➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖

आज दिनांक 13-04-2024 के संध्या में माननीय विधान पार्षद- सह- जदयू एमएलसी डॉ.संजीव कुमार सिंह जी* के आवास पर उनसे शिष्टाचार मुलाकात के लिए गया था। हाल ही में उन्होंने अपने दाहिने आंख की सर्जरी कराई है। इसी दौरान संयोगवश उनसे ग्रीष्मावकाश के साथ-साथ समय सारणी के बारे में ही चर्चा हो रही थी कि ठीक उसी समय मेरे समक्ष ही मुख्यमंत्री जी से मिलने के लिए उन्हें फोन आया। इसी क्रम में सर ने बताया कि ईद के दिन भी उन्होंने माननीय मुख्यमंत्री जी से मिलने हेतु समय मांगा था लेकिन कल तक समय नहीं मिला। अभी अभी थोड़ी देर पहले मैंने उनसे जिज्ञासावश फोन किया। उन्होंने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी से शिक्षकों की वर्तमान समस्या यथा *ग्रीष्मावकाश, समय- सारणी और महत्वपूर्ण पर्व और त्योहार में भी अवकाश कटौती* विभाग द्वारा किए जाने के बारे में अद्यतन जानकारी दी। उपरोक्त संदर्भ में विधान पार्षद श्री सिंह ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी से सदन में विद्यालय संचालन हेतु उनके द्वारा की गई घोषणा *10 बजे से 4 बजे तक* को लागू कराने का आग्रह किया। साथ ही 15 अप्रैल से होने वाली ग्रीष्मावकाश में भी शिक्षकों को विशेष कक्षा के नाम पर आने की बाध्यता को समाप्त किए जाने और राज्य कर्मियों की भांति *33 दिनों का अर्जितावकाश* प्रावधानित करने का आग्रह किया गया। श्री सिंह के द्वारा यह भी माननीय मुख्यमंत्री जी को संज्ञान में दिया गया कि अपर मुख्य सचिव जी ने खुद ही शिक्षकों के बीच प्रशिक्षण के कार्यक्रम के दौरान स्पष्ट किया था कि क्षतिपूर्ति अवकाश का प्रावधान किया जाएगा लेकिन इसके बारे में भी विभाग द्वारा अभी तक कोई पत्र निर्गत नहीं किया गया है।_

_इसके अतरिक्त राज भवन राज भवन तथा शिक्षा विभाग के बीच कायम गतिरोध के कारण विश्वविद्यालय- महाविद्यालय के शिक्षकों के वेतन/पेंशन से सबंधित खाते से निकासी के रोक को भी यथाशीघ्र हटाने के लिए भी विभाग को निर्देशित करने का आग्रह किया। उपरोक्त संदर्भ में उन्होंने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा उनके *प्रधान सचिव श्री दीपक कुमार जी* को निर्देशित किया गया। संभावना है कि कल से परसों तक उपरोक्त से संबंधित सूचना मिले।