Sunday, July 14bnmusamvad@gmail.com, 9934629245

Bihar राज्यपाल-सह-कुलाधिपति ने बी॰आर॰ए॰ बिहार विश्वविद्यालय, मुजफ्फरपुर की सीनेट की बैठक में भाग लिया।

बिहार के माननीय राज्यपाल-सह-कुलाधिपति श्री राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर ने बी॰आर॰ए॰ बिहार विश्वविद्यालय, मुजफ्फरपुर की सीनेट की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि परीक्षा का संचालन, उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन, परीक्षाफल का प्रकाशन एवं डिग्री वितरण ससमय सुनिश्चित करायें। सभी विश्वविद्यालय इनसे संबंधित कार्यों के लिए अपना सॉफ्टवेयर विकसित करें।

उन्होंने कहा कि बिहार का वैशाली विश्व में लोकतंत्र की जननी है। यहाँ के नालंदा विश्वविद्यालय में विश्व भर के विद्यार्थी पढ़ने के लिए आते थे। हमें बिहार में पुनः ऐसे शैक्षणिक वातावरण का निर्माण करना चाहिए ताकि यहाँ बच्चों को पढ़ाई के लिए बाहर नहीं जाना पड़े, बल्कि बाहर के विद्यार्थी विद्यार्जन के लिए बिहार में आ सकें। 

राज्यपाल ने विश्वविद्यालयों में शोध कार्य को बढ़ावा देने पर जोर देते हुए कहा कि छात्र-छात्राओं को इसके लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। विश्वविद्यालय के शिक्षकों का शोध पत्र भी नियमित रूप से प्रकाशित होना चाहिए।