NSS *शिविर का छठा दिन। स्वास्थ्य जागरूकता, योगाभ्यास एवं परिचर्चा।

*शिविर का छठा दिन*

स्वास्थ्य जागरूकता, योगाभ्यास एवं परिचर्चा

*कोरोना से बचें*

कोरोना महामारी अचानक हमारे सामने आई। हम इसके तैयार नहीं थे। इसलिए हमें इससे जानमाल की काफी हानि उठानी पड़ी। हमारे कई अपने असमय कालकल्वित हो गए।

यह बात मुख्य अतिथि सिविल सर्जन डा. अमरेंद्र नारायण शाही ने कही।

वे गुरूवार को राष्ट्रीय सेवा योजना के विशेष शिविर में स्वास्थ्य जागरूकता कार्यक्रम में बोल रहे थे। ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय, मधेपुरा की ओर से यह शिविर अधिकलाल मध्य विद्यालय, वार्ड नंबर 3 में आयोजित हो रहा है।

उन्होंने कहा कि सरकार एवं समाज के प्रयास से कोरोना वायरस पर बहुत हद तक नियंत्रण हुआ है। लेकिन इसका खतरा अभी तक टला नहीं है। हम सबों को कोरोना से सावधान रहना है। किसी भी परिस्थित में लापरवाही नहीं करनी है।

उन्होंने सभी लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु निर्धारित सभी दिशानिर्देशों (एसओपी) हरसंभव पालन करने की सलाह दी और टीकाकरण अभियान को सफल बनाने पर जोड़ दिया।

उन्होंने कहा कि टीकाकरण कोरोना से बचाव में सबसे कारगर हथिथार है। पहला डोज मिलने पर 80 प्रतिशत और दूसरा डोज मिलने पर शत-प्रतिशत बचाव संभव है। अतः सभी लोगों का पूर्ण टीकाकरण आवश्यक है।

उन्होंने कहा कि सरकार कोरोना एवं अन्य महामारियों-बीमारियों से बचाव हेतु हरसंभव प्रयास कर रही है। हमें लोगों के बीच सरकारी स्तर पर उपलब्ध सेवाओं के प्रचार-प्रसार करने की जरूरत है। अक्सर लोग जानकारी एवं जागरूकता के अभाव में बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं।

के. पी. काॅलेज, मधेपुरा के प्रधानाचार्य डॉ. राजीव रंजन ने कहा कि हम सबों को अपने जीवन में स्वास्थ्य को प्राथमिकता देना चाहिए।

सिंडिकेट सदस्य डाॅ. जवाहर पासवान ने कहा कि इस शिविर ने एक इतिहास रहा है।

सीएम साइंस कॉलेज, मधेपुरा में असिस्टेंट प्रोफेसर डाॅ. ललन कुमार ललन ने कहा कि इस शिविर से स्थानीय लोगों को भी लाभ हुआ है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधानाचार्य डाॅ. के. पी. यादव ने की। अतिथियों का स्वागत एनएसएस समन्वयक डॉ. अभय कुमार ने किया। संचालन जनसंपर्क पदाधिकारी डाॅ. सुधांशु शेखर ने किया। धन्यवाद ज्ञापन प्रधानाध्यापिका एलिस ने किया।

*ऑनलाइन परिचर्चा*
शिविर के छठे दिन दो विषय पर ऑनलाइन परिचर्चा आयोजित हुई।

प्रथमतः दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली में एसोसिएट प्रोफेसर डाॅ. जसपाली चौहान ने देश की उन्नति में युवा-शक्ति की भूमिका पर व्याख्यान दिया।

उन्होंने कहा कि देश की उन्नति युवाओं पर निर्भर है। हम युवाओं को हर क्षेत्र में जाने को तैयार करें। युवा अपनी रूचि के अनुसार विषय का चुनाव किया जाए, ताकि बच्चा आगे चलकर उच्च शिक्षा में पारंगत हो पाए। बिना रूचि विषय चुनाव के कारण युवा केवल किसी एक सरकारी नौकरी में ही जाऐंगे, तो अन्य क्षेत्र में कौन काम करेगा ?

उन्होंने कहा कि हमारे देश को अच्छा किसान, कामगार सभी वर्ग की जरूरत है। हम शिक्षक वर्ग को युवा वर्ग का सहयोग कर होगा, तभी देश आगे तरक्की करेगा।

डॉ चन्द्र शेखर सिंह (नई दिल्ली) ने पाचन संबंधी समस्या एवं रोकथाम विषय पर प्रशिक्षण दिया। उन्होंने कहा कि पाचन ठीक नहीं रहने से हमारा शरीर का विकास बंद हो जाता है।

उन्होंने कहा कि गैस बनना, पेट फूलना आदि पाचन की समस्या कारण ही होता है। तेज मसाला, प्रदूषित जल आदि से पाचन बिगड़ जाता है।चाय अधिक पीने से गैस की समस्या होती है।
रासायनिक खाद एवं कीटनाशक के प्रयोग से सब्जी एवं अन्य भी दूषित हो जाते हैं और हमारे पाचनतंत्र को खराब कर देते हैं।

उन्होंने कहा कि आजकल बच्चे भी पांचन सम्बन्धी समस्याओं से जूझ रहे हैं। बच्चों के लिए माँ का दूध ही सर्वोत्तम आहार है। बोतल से दूध पिलाने से संक्रमण का खतरा रहता है। यदि विशेष परिस्थित में बोतल से दूध पिलाना पड़े, तो बोतल को ठीक से साफ करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मिठाई बनाने में कई केमिकल का प्रयोग हो रहा है।
अगर हम मिठाई खाते हैं, तो पाचन तंत्र बिगड़ जाता है। अतः दीपावली एवं अन्य पर्व-त्योहारों में मिठाई कम से कम खानी चाहिए।

ऑनलाइन परिचर्चा में दीपमाला, कुमारी वीणा, जुही राज, सतीश, सौरभ कुमार चौहान, रौशन कुमार रमन, प्रिंस, सूरज, रामानुज रवि, सूरज आदि ने प्रश्न पुछे। अतिथियों का स्वागत क्रीड़ा सचिव डाॅ. शंकर कुमार मिश्र ने किया। संचालन राजनीति विज्ञान विभाग के शोधार्थी सारंग तनय ने किया।

*योगाभ्यास*

इसके पूर्व शिविरार्थियों ने पतंजलि योग समिति, मधेपुरा के जिलाध्यक्ष योगगुरू राकेश कुमार भारती के निदेशन में योगाभ्यास किया। इस क्रम में मंगलाचरण एवं ओऊम का सामूहिक उच्चारण किया गया। साथ ही पद्मासन, सिद्धासन और सुखासन आदि के अभ्यास किए गए। योगगुरू ने कहा कि मानव शरीर ईश्वर की देन है। ईश्वर ने हमें स्वास्थ रूप रूप में धरती पर भेजा है। हम यह कोशिश करें कि हम जब मृत्यु को प्राप्त करें, तो ईश्वर को यह शरीर स्वस्थ रूप में सौपें।

इस अवसर पर सीएम साइंस कॉलेज, मधेपुरा के डाॅ. शिवनाथ साह, खेल उपसचिव डॉ. शंकर कुमार मिश्र, पूर्व कार्यक्रम पदाधिकारी डाॅ. उपेंद्र प्रसाद, के. पी. काॅलेज, मुरलीगंज के डॉ अमरेंद्र कुमार, बायोटेक विभाग के प्रणव कुमार प्रियदर्शी, उत्तम नाथ यादव, आनंद कुमार, मधु कुमारी, बुलबुल कुमारी, रूपम कुमारी
प्रशस्ति, मनीष कुमार,
सुरज कुमार, गौरव कुमार, आशुतोष आनंद,
गुड़िया कुमारी, आरती कुमारी, ज्योति कुमारी,
चन्द्रप्रिया, गुड्डू कुमार झा, नेहा कुमारी,
सोनी कुमारी, सुभाष कुमार, आलोक कुमार,
आलोक कुमार, राहुल कुमार, प्रिंस कुमार,
प्रभास कुमार, नेहा भारती, आकृति रंजन,
माधवी राज, गौरीशंकर झा, अंजलि कुमारी,
ब्यूटी कुमारी, पूजा कुमारी, बुलबुल कुमारी,
मधु कुमारी, वेद प्रकाश कुमार, कशिश नाज़, जयंत राज, मुस्कान भारती, संतोष भारती, विकास कुमार, अभिमन्यु कुमार, प्रिया कुमारी, शिवांगी सुमन, अमन कुमार, सौरभ कुमार, ॠषभ राज, रंजन, कुमारी नीतू
पुनम कुमारी, रेखा रानी, प्रीति कुमारी, सीमा कुमारी, रवीन्द्र, अंकित कुमार आदि उपस्थित थे।

*समापन समारोह शनिवार को*

शिविर के अंतिम दिन शनिवार को सुबह 7:30 बजे से योगाभ्यास एवं पौधारोपण होगा। साथ ही समापन समारोह आयोजित किया जाएगा, जिसमें पूर्व विधायक डाॅ. अरूण कुमार यादव एवं वार्ड पार्षद डाॅ. अभिलाषा कुमारी सहित कई गणमान्य लोग शिरकत करेंगे।

bnmusamvadhttps://bnmusamvad.com
B. N. Mandal University, Madhepura, Bihar, India

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

20,692FansLike
3,372FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles