BNMU SAMVAD

NET-UGC पाठ्यक्रम का गहराई से अध्ययन करें, उपर-उपर पढ़ने से काम नहीं चलनेवाला

मैं आशीष कुमार पैट 2020 का शोधार्थी हूँ।मैंने दो बार यूजीसी नेट की परीक्षा उत्तीर्ण की है तथा जे.आर.एफ. के लिए प्रयत्नशील हूँ। प्रथम बार जून 2022 में 95.56 पर्सेंटाइल स्कोर प्राप्त करने के बावजूद थोड़े अंतर से मेरा जे.आर.एफ. छूट गया। दिसंबर 2023 में भी मेरा नेट हुआ है।

अपनी सफलता का श्रेय मैं अपनी मेहनत और लगन, अपने पिताजी के बुनियादी शिक्षा-संस्कार, गुरुजनों (डाॅ.सिद्धेश्वर काश्यप सर, डाॅ. ओमप्रकाश ओम, डाॅ. विनय कुमार चौधरी,डाॅ उषा सिन्हा मैम, डा. वीर किशोर सिंह) के अध्यापन, मार्गदर्शन व आशीर्वाद को देता हूँ।अपने मित्र विभीषण जी के व्यक्तित्व, मेहनत, संघर्ष एवं सफलता से भी मैं प्रभावित एवं प्रेरित हुआ। इसके अलावा उन सभी का तहेदिल से शुक्रिया अदा करता हूँ, जो किसी न किसी रुप में इस मुकाम तक पहुंचने में मेरे सहयोगी रहे।

ऐसे विद्यार्थी जो नेट परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, उनसे मेरा यही कहना है कि आप पाठ्यक्रम का गहराई से अध्ययन करें, उपर-उपर पढ़ने से काम नहीं चलनेवाला। धैर्य के साथ बार-बार परीक्षा दीजिए क्योंकि कई बार अनुभव से भी सफलता मिलती है।अपने कमजोर पक्ष को पहचानें और उसपर विशेष मेहनत करें। दोनों पत्र पर ध्यान दें क्योंकि दोनों पत्र में अलग-अलग पास करना अनिवार्य है। मानक पुस्तकों का गहराई से अध्ययन करें, पूर्व के प्रश्नों को हल करने का अभ्यास करें, प्रश्नों की प्रवृत्ति को पहचानें और मॉक टेस्ट लगाएं। अपनी मेहनत और लगन से एक दिन आप हर मुकाम को हासिल कर सकते हैं।😊

आशीष कुमार, शोधार्थी, बी. एन. मंडल विश्वविद्यालय मधेपुरा