BNMU SAMVAD

BNMU विश्वविद्यालय स्नातकोत्तर मनोविज्ञान विभाग में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय कार्यशाला जो कि शोध कौशल विकास पर आधारित है में राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त विद्वानों को वक्ता/ प्रशिक्षक के रूप में आमंत्रित

20 से 25 मई तक विश्वविद्यालय स्नातकोत्तर मनोविज्ञान विभाग में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय कार्यशाला जो कि शोध कौशल विकास पर आधारित है में राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त विद्वानों को वक्ता/ प्रशिक्षक के रूप में आमंत्रित करने की कोशिश की जा रही है। इस संदर्भ में विभागाध्यक्ष एवं कार्यशाला के निदेशक प्रो. डॉ. एम आई रहमान ने बताया कि राज्य के बाहर के विश्वविद्यालयों एवं केन्द्रीय विश्ववद्यालयों के प्रख्यात विद्वानों से संपर्क साधा जा रहा है कि वह अपनी सहमति प्रदान करें ताकि उनकी विद्वता से भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के शिक्षक एवम् शोधार्थी विशेष रूप से लाभान्वित हो सकें। इसी संदर्भ में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व कार्यवाहक कुलपति प्रोफेसर शमीम अहमद अंसारी जो कि मनोविज्ञान के अंतरराषट्रीय ख्याति प्राप्त विद्वान हैं उनसे सहमति प्राप्त कर ली गई है। वह आयोजित कार्यशाला में मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित रहेंगे एवम् बीज-भाषण प्रस्तुत करेंगे। प्रो. डॉ. शमीम अहमद अंसारी अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में ही मनोविज्ञान के विभागाध्यक्ष, सामाजिक संकाय के संकायध्यक्ष एवम् विश्वविद्यलय के के कई संस्थानों के निदेशक भी रह चुके हैं। प्रोफेसर अंसारी ने विदेशों में भी पठन पाठन के क्षेत्र में अपनी सेवाएं दी हैं एवम् भारत का मान सम्मान बढ़ाया है। प्रोफेसर रहमान ने बताया कि प्रोफेसर अंसारी के छात्र एवम् छात्राएं न केवल भारत में बल्कि विश्व के एशियाई मुल्कों और यूरोप अमेरिका के देशों में भी फैले हुए हैं। आयोजन समिति के सचिव डॉ आनंद कुमार सिंह, कोषाध्यक्ष डा सिकंदर कुमार एवम् आयोजन समिति के सदस्यों काजल कुमारी, मंजीदा फारुकी, सुप्रभा भारती, श्रुति सुमन, प्रीति कुमारी, मुकेश कुमार यादव, यतेंद्र कुमार निराला एवम् बिट्टू कुमार ने उत्साहपूर्वक बताया कि प्रो अंसारी साहिब का आगमन हम छात्र छात्राओं के लिए वरदान साबित होगा। विश्वविद्यलय आई केयू ए सी के निदेशक प्रो डॉ नरेश कुमार ने हर्ष जताते हुए कहा कि उनका आगमन न केवल मनोविज्ञान विभाग के लिए अपितु पूरे विश्वविद्यालय के लिए गौरव की बात है।