BNMU कुलपति ने की कोरोना संक्रमण से बचने की अपील

0
188

हमें हमेशा याद रहे कि संकट की घड़ी का सामना साहस, धैर्य एवं विवेक से ही किया जा सकता है। इसलिए आप सभी अपना एवं अपने परिजनों के स्वास्थ्य का ख्याल रखें और केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए निर्धारित सभी दिशानिर्देशों (एसओपी) का पालन करें। यह बात कुलपति प्रोफेसर डॉ. राम किशोर प्रसाद रमण ने अपने संदेश में कही है।

कुलपति ने कहा है कि लगभग एक वर्ष से पूरी दुनिया कोरोना महामारी से अस्त-व्यस्त एवं त्रस्त है। इस क्रम में शिक्षा-व्यवस्था पर भी काफी कुप्रभाव पड़ा है। हमारा बी. एन. मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा भी कोरोना की चपेट से अछूता नहीं है। कोविड-19 का दूसरे वेब का कहर पहले से अधिक भयावह है और इसने हमारे विश्वविद्यालय के कुछ पदाधिकारियों, शिक्षकों, कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों को भी अपनी चपेट में ले लिया है। हम इससे काफी मर्माहत हैं और ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि वे सभी जल्दी स्वस्थ हो जाएँ।

कुलपति ने कहा कि विपदा की घड़ी में व्यक्तिगत एवं सामाजिक अनुशासन ही सबसे बड़ा सुरक्षा कवच होता है और परहेज हमेशा इलाज से बेहतर रहता है। अतः सभी लोग नियमित रूप से साबुन या सेनेटाइजर से हाथ धोते रहें और मास्क लगाएं। साथ ही बेवजह घरों से नहीं निकलें और एक-दूसरे से भौतिक दूरी (सोशल/ फिज़िकल डिस्टेंशिंग) बनाए रखें।

कुलपति ने सभी शिक्षकों से अनुरोध किया है कि वे ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन करें और शोधार्थियों एवं विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के प्रति सजग रहें। उन्होंने विद्यार्थियों से अपील की है कि वे संकट की इस घड़ी को निष्ठापूर्वक अपने स्वाध्याय में लगाएँ और मनोयोगपूर्वक ऑनलाइन कक्षाओं में भाग लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here