Ambedkar हमारा प्रेरणास्रोत है डाॅ. अंबेडकर का संविधान : डॉ. जवाहर पासवान

हमारा प्रेरणास्रोत है डाॅ. अंबेडकर का संविधान : डॉ. जवाहर पासवान


—————–

डाॅ. भीमराव अंबेडकर ने भारतीय संविधान के माध्यम से बिना किसी भेदभाव के भारत के सभी लोगों को समान अधिकार दिया है। यह संविधान हम सबों के लिए प्रेरणास्रोत है और यही आधुनिक भारत का सबसे बड़ा ग्रंथ है।

यह बात बीएनएमयू सीनेट एवं सिंडिकेट सदस्य सह के. पी. कॉलेज, मुरलीगंज के प्रधानाचार्य डाॅ. जवाहर पासवान ने कही।

वे गुरुवार को टी. पी. कॉलेज, मधेपुरा के डॉ. अंबेडकर कल्याण छात्रावास में आयोजित भारतरत्न डॉ. अंबेडकर जन्मोत्सव समारोह की अध्यक्षता कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि डॉ. अंबेडकर द्वारा निर्मित भारतीय संविधान चंद लोगों के लिए नहीं है, सबों के लिए है। यह सभी मनुष्यों के मान-सम्मान एवं मानवाधिकार का रक्षक है। इसमें सभी नागरिकों को स्वतंत्रता, समानता, बंधुता की गारंटी दी गई है। यहां सभी नागरिक में स्त्री-पुरूष, अवर्ण-सवर्ण, दलित-ब्राह्मण, हिंदू-मुस्लमान सभी समाहित हैं।

मुख्य वक्ता सह जनसंपर्क पदाधिकारी डॉ. सुधांशु शेखर ने कहा कि डॉ. अंबेडकर ने केवल दलितों ही नहीं, बल्कि स्त्रियों, मजदूरों सहित संपूर्ण समाज, राष्ट्र एवं मानवमात्र के जीवन को को गरिमिपूर्ण बनाने में योगदान दिया है। अतः वे केवल दलितों के मसीहा नहीं हैं, बल्कि वे संपूर्ण राष्ट्र के जननायक एवं मानवता के सच्चे पथप्रदर्शक हैं।

उन्होंने कहा कि डॉ. अंबेडकर सह सभी के हैं और हम सभी को डॉ. अंबेडकर का बनना है। इसके लिए हमें डॉ. अंबेडकर के सामाजिक न्याय एवं मानवतावाद के कारवां को आगे बढ़ाना होगा। हमें उनके विचारों को अपने जीवन में आत्मसात करना होगा। यही डॉ. अंबेडकर के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी और इससे हमारा अपना जीवन भी सफल एवं सार्थक होगा।

मुख्य अतिथि वरीय उप समाहर्ता बिरजू दास ने कहा कि डाॅ. अंबेडकर ने शिक्षित बनो, संगठित हो और संघर्ष करो का नारा दिया है। वे अपने समय के सबसे अधिक शिक्षित व्यक्ति थे। हमारे जीवन में शिक्षा का सबसे अधिक महत्व है। हमें शिक्षत होना है और दूसरों को भी शिक्षत करना है।

उन्होंने कहा कि डॉ. अंबेडकर यह मानते थे कि हमें इस देश को राष्ट्र बनाना है, तो हमें सामाजिक एवं आर्थिक आसमानता को दूर करना होगा।

विशिष्ट अतिथि प्रखंड कल्याण पदाधिकारी मनोज कुमार ने कहा कि डॉ. अंबेडकर ने समाज के सभी वर्गों के उत्थान के लिए कार्य किया।

प्रधानाध्यापक डॉ. सुभाष पासवान ने कहा कि आज आम लोगों के मानवाधिकार पर हमला हो रहा है। लोगों को शिक्षा से वंचित करने की साज़िश रची जा रही है।

कार्यक्रम का संचालन चंदन कुमार ने किया। धन्यवाद ज्ञापन छात्र नायक प्रिय रंजन ने किया। जन्मोत्सव की शुरुआत अतिथियों ने केक काटकर किया। सबों ने डाॅ. अंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि किया।

इस अवसर पर प्रखंड कल्याण पदाधिकारी अमित कुमार सिंह रघुवंशी, रामानंद सिंह, विकास मित्र मिथिलेश कुमार ऋषिदेव, समाजशास्त्र विभाग के डाॅ. राजकुमार रजक, राजहंस राज उर्फ मुन्ना पासवान, संगीता देवी, सुधीर धरकार, सिकंदर साह, गंगा कुमार, कंचन कुमारी, इंद्रजीत कुमार, प्रिंस कुमार, गीता कुमारी, ललन कुमार राम, लालेश्वर श्रषिदेव, नयन रंजन, ओम रंजन आदि उपस्थित थे।

bnmusamvadhttps://bnmusamvad.com
B. N. Mandal University, Madhepura, Bihar, India

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

20,692FansLike
3,372FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles