Thursday, July 25bnmusamvad@gmail.com, 9934629245

BNMU महाविद्यालय का है गौरवशाली इतिहास : प्रधानाचार्य 

महाविद्यालय का है गौरवशाली इतिहास : प्रधानाचार्य 

 

ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय, मधेपुरा का अपना गौरवशाली इतिहास है। हम सभी अपने इतिहास से प्रेरणा लेकर अपने वर्तमान को समुज्ज्वल बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

 

यह बात ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय, मधेपुरा के प्रधानाचार्य प्रो. कैलाश प्रसाद यादव ने कही। वे स्नातकोत्तर गणित विभाग द्वारा आयोजित चतुर्थ सेमेस्टर के विद्यार्थियों के विदाई समारोह का उद्घाटन कर रहे थे।

 

उन्होंने कहा कि इधर-उधर भटकने से उर्जा एवं शक्ति का अपव्यय होता है। अत: विद्यार्थियों को हमें अपना एक लक्ष्य निर्धारित कर उसकी प्राप्ति हेतु निरंतर प्रयास करना चाहिए।

 

मुख्य अतिथि अंग्रेजी विभागाध्यक्ष डॉ. मिथिलेश कुमार अरिमर्दन ने कहा कि जीवन को समग्रता में समझने की जरूरत है।

 

विशिष्ट अतिथि स्नातकोत्तर दर्शनशास्त्र विभागाध्यक्ष डॉ. सुधांशु शेखर ने कहा कि हमें अपने जीवन में प्रेय नहीं, बल्कि श्रेय को चुनना चाहिए।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विभागाध्यक्ष ले. गुड्डू कुमार ने सभी विद्यार्थियों से अपील की कि वे अपने कैरियर-निर्माण को सर्वोच्च प्राथमिकता दें।

 

इसके पूर्व अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलित कर विधिवत कार्यक्रम की शुरुआत की। अतिथियों को अंगवस्त्रम् एवं पुष्पगुच्छ भेंटकर सम्मानित किया गया।

गीतकार संतोष कुमार और उनके सहयोगी कलाकारों ने ने अपने गीत-गजलों से सबों को मंत्रमुग्ध कर दिया। मंच संचालन छात्र बिपीन कुमार ने किया।

इस अवसर पर देवांशु कुमार, दुर्गेश कुमार, नीरज कुमार, नवीन कुमार, संतोष कुमार कृष्णा कुमार, निशा कुमारी, पायल कुमारी, धर्मन्त्र, प्रिंस, जयकुमार, दिवाकर, अजीत, नेहा, टिंकल, अमर आदि उपस्थित थे।