Thursday, July 25bnmusamvad@gmail.com, 9934629245

Bharat आजादी के आंदोलन पर आधारित फिल्म सामूहिक रूप से देखें – रघु ठाकुर

आजादी के आंदोलन पर आधारित फिल्म सामूहिक रूप से देखें – रघु ठाकुर

——————————–

‘ ऐ वतन, मेरे वतन ‘ फिल्म का गांधी शांति प्रतिष्ठान में प्रदर्शन

———————

 

दिल्ली, 26 मई। भारत छोडो़ आन्दोलन की पृष्ठभूमि में ‘ कांग्रेस रेडियो ‘ के लिए उषा मेहता , राममनोहर लोहिया व उनके साथियों के योगदान पर बनी फिल्म ‘ ऐ वतन, मेरे वतन ‘ का आज यहाँ गांधी शांति प्रतिष्ठान में प्रदर्शन किया गया। सुप्रसिद्ध सोशलिस्ट व गांधीवादी चिंतक रघु ठाकुर की पहल से यह आयोजन समता ट्रस्ट व गांधी शांति प्रतिष्ठान ने मिलकर किया था।

फिल्म के प्रदर्शन से पहले रघु ठाकुर ने कहा ‘ ए वतन, मेरे वतन ‘ फिल्म स्वतंत्रता आंदोलन से उपजे मूल्यों पर आधारित है। इस फिल्म को सामूहिक रूप से देखने से उन मूल्यों का प्रभावी संप्रेषण होता है। यह फिल्म प्रेरणा और संकल्प दोनो है।

कुमार प्रशांत ने कहा- ‘ बंदूक की लड़ाई आसान होती है। लेकिन गांधीजी के नेतृत्व में भारत के असंख्य लोगों ने अहिंसक संघर्ष करना सीखा। फिल्म के नायक राममनोहर लोहिया व बाईस साल की लड़की उषा मेहता है जिनकी पहल से स्वतंत्रता के आंदोलन में जुड़े लोगों ने विदेशी हुकूमत के समांतर स्वतंत्रता आंदोलन के प्रसार के लिए संचार व्यवस्था कायम करने की कोशिश की।

राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा इस फिल्म के नायक डा. राममनोहर लोहिया, उषा मेहता सहित अनेक लोगों ने स्वाधीनता के लिए जो यातनाएं सहीं उनकी कल्पना करना कठिन है। पराधीन भारत में लोग देश के लिए हंसते हुए जेल जाते थे, कष्ट सहते थे। लेकिन यह आश्चर्य की बात है कि स्वाधीन भारत में अब देश के लिए बहुत कम लोग जेल जाने को तैयार होते हैं। रघु ठाकुर जी के संघर्ष का उल्लेख करते हुए संजय सिंह ने कहा – रघु जी ने देश के लिए संघर्ष करते हुए सात साल जेल में बिताये।

देश के लिए जो निस्वार्थ भाव से संघर्ष करते हैं, यातना सहते हैं, वही वास्तविक नायक होते हैं।

उल्लेखनीय है कि रघु ठाकुर व समता ट्रस्ट की पहल से यह फिल्म कुछ समय पहले भोपाल में भी दिखाई गयी थी।

गांधी शांति प्रतिष्ठान के भरे हाल में श्रीमति अनिता सिंह , सर्व श्री अरविंद कुमार सिंह ,राजकुमार सिंह ,अभिताभ आधार, जयंत तोमर फैसल मोहम्मद , डा सुप्रभात ,आशा रानी , मुकेश चंद्रा, राजेंद्र राजन अशोक कुमार, रमेश शर्मा , ब्रजेश शर्मा ,एस एस नेहरा, निरंजन सिंह ,बलवीर मलिक, राजवीर सिंह, सौरभ राय, आशुतोष मिश्र, अनिल चौबे,श्रीमति सीमा , श्रीमति रोजी, आशुतोष, सर्वेश सहित बड़ी संख्या में दिल्ली के बौद्धिक जगत ,पत्रकार जगत, साहित्यिक जगत और समाज सेवा से जुड़े लोग शामिल हुए।

आज के फिल्म प्रदर्शन में शेखू जी, अरुण प्रताप सिंह, बशीम भाई रईस अंसारी, अमन खान, ओमवीर संजीव राणा, विकास पोखरियाल की विशेष भूमिका रही।

प्रेषक=अरुण प्रताप सिंह